PAK एयरफोर्स में बवाल, Balakot Airstrike के बाद भारत में F-16 भेजने वाले अधिकारी समेत 13 अफसरों का क्यों कर दिया गया कोर्ट मार्शल

स्टोरी शेयर करें


पाकिस्तान की वायुसेना में बड़ा उलटफेर देखने को मिला है। जानकारी सामने आई है कि वायुसेना के 13 शीर्ष अधिकारियों का कोर्ट मार्शल किया गया है। रक्षा पत्रकार वजाहत एस. खान ने पाकिस्तान वायु सेना (पीएएफ) में मौजूद भ्रष्टाचार के बारे में एक खबर लीक की। इसके बाद पीएएफ ने जांच बिठाई थी। जांच के बाद 13 अधिकारियों का कोर्ट मार्शल कर दिया गया। इसमें वह अधिकारी भी शामिल है जिसने बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी लड़ाकू विमान भारत भेजे थे। बालाकोट हवाई हमले के बाद सेवानिवृत्त एयर मार्शल जावेद सईद ने भारत के खिलाफ ऑपरेशन स्विफ्ट रिटॉर्ट शुरू किया। इस ऑपरेशन के तहत पाकिस्तानी F-16 लड़ाकू विमानों को कश्मीर भेजा गया था। भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के साथ हवाई फाइट हुई। पाकिस्तान ने दावा किया कि उन्होंने दो भारतीय लड़ाकू विमानों को मार गिराया है। वहीं अभिनंदन ने अपने मिराज-2000 बाइसन से उनके F-16 फाइटर जेट को मार गिराया था। 

इसे भी पढ़ें: कंगाली से निकलने वाला अनोखा प्लान! कर्ज लेकर कर्ज चुकाएगा पाकिस्तान

खबर यह भी है कि कोर्ट मार्शल का सामना कर रहे सभी 13 अधिकारियों में से सात वरिष्ठ हैं। इन सभी अधिकारियों ने पाकिस्तानी वायुसेना प्रमुख जहीर बाबर सिद्धू के भ्रष्टाचार को उजागर किया था। सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि, कुछ रक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि ये सभी ईमानदार अधिकारी हैं। उन पर अत्याचार किया जा रहा है। कुछ ऐसे अधिकारी भी पकड़े गए हैं, जो वायुसेना प्रमुख के ठीक बाद आते हैं। माना जा रहा है कि पाकिस्तानी वायुसेना प्रमुख अपना कार्यकाल बढ़ाने के लिए अपने प्रतिद्वंद्वी कनिष्ठ अधिकारियों से छुटकारा पा रहे हैं। इस खुलासे के बाद अब वायुसेना प्रमुख मुश्किल में पड़ गए हैं। उन पर हथियारों की खरीद में धांधली का आरोप है।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान को 1971 जैसे विभाजन का सामना करना पड़ेगा, तालिबान मंत्री की धमकी के पीछे के क्या है मायने?

कुछ दिन पहले पाकिस्तानी सेना के अधिकारियों ने मिलकर वायुसेना प्रमुख जहीर बाबर के खिलाफ श्वेत पत्र जारी किया था। जिसमें कहा गया था कि जहीर ने बहुत कम समय के लिए फाइटर जेट उड़ाए थे। ऐसे में उन्हें किस आधार पर वायुसेना प्रमुख बनाया गया? जब पाकिस्तानी पत्रकार वजाहत एस खान ने इस कोर्ट मार्शल मामले का खुलासा किया तो वायुसेना ने इन अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद से पाकिस्तानी वायुसेना में खलबली मच गई है।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements