अमेरिका ने चुराई चीन के टाइप 055 युद्धपोत की तकनीक? US Navy के विध्वंसक की डिजाइन पर बवाल

स्टोरी शेयर करें



वॉशिंगटन
चीन पर अबतक दूसरे देशों की डिजाइन चुराकर युद्धपोतों, लड़ाकू विमान और मिसाइलों को बनाने के आरोप लगते रहे हैं। अब यही आरोप अमेरिका पर लग रहे हैं। दरअसल, हाल में ही के लिए भविष्य में बनाई जाने वाली एक नई युद्धपोत की डिजाइन को जारी किया गया है। जिसके बाद कई विशेषज्ञों ने इसे चीन के टाइप 055 गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर की कॉपी करार दिया है। अमेरिकी नेवल कॉन्फ्रेंस के दौरान दावा किया गया कि यह डिस्ट्रॉयर अबतक की सबसे उन्नत हथियारों, कम्यूनिकेशन सिस्टम और रडार से लैस होगा।

अमेरिकी नौसेना लंबे समय से अपने पुराने अर्ले बर्क-श्रेणी के डिस्ट्रॉयर्स को बदलने की मांग कर रही है। इस क्लास के पहले डिस्ट्रॉयर को अमेरिकी नौसेना में 1991 में पहली बार कमीशन किया गया था। अमेरिका ने इसकी जगह लेने के लिए सीजी (एक्स) प्रोग्राम को शुरू किया था, लेकिन कुछ कारणों से इसे साल 2010 में बंद कर दिया गया था। इसके बाद से ही अमेरिकी नौसेना किसी दूसरे डिस्ट्रॉयर की तलाश कर रही थी।

डिजाइन की तुलना चीनी युद्धपोत से की जा रही
बुधवार को वर्जीनिया के अर्लिंग्टन में सरफेस नेवी एसोसिएशन के नेशनल सेमिनार में फ्यूचरिस्टिक डीडीजी (एक्स) डिस्ट्रॉयर डिजाइन का अनावरण किया गया। हालांकि, अमेरिकी नौसेना ने इस विवाद को लेकर कोई बयान नहीं जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि नई डिजाइन को जारी करने का उद्देश्य नौसेना के लिए विकसित किए जाने वाले युद्धपोतों के बारे में जानकारी देना था।

खतरनाक है टाइप 055 गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर
चीन की सरकारी मीडिया टाइप 055 गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर को दुनिया का सबसे खतरनाक युद्धपोत के रूप में ब्रांडिंग कर रही है। इस युद्धपोत की लंबाई 180 मीटर और अधिकतम चौड़ाई 20 मीटर की है। इस युद्धपोत का फुल लोड डिस्प्लेसमेंट करीब 13,000 टन है। इस युद्धपोत के समान अमेरिकी नौसेना के टिकोडरोगा क्लास क्रूजर और फ्लाइट III आर्ले बर्क क्लास के डिस्ट्रॉयर्स का डिस्प्लेसमेंट करीब 9,800 टन है, जबकि ब्रिटेन की रॉयल नेवी में शामिल टाइप 45 क्लास के युद्धपोत का डिस्प्लेसमेंट करीब 8,500 टन है।

इन हथियारों से लैस है टाइप 055 युद्धपोत
इस युद्धपोत में 130 मिलीमीटर की H/PJ-38 मेन गन लगी हुई है। इसके अलावा इसमें 112 की संख्या में वर्टिकल लॉन्च की जा सकने वाली मिसाइलें तैनात हैं। इन दोनों हथियारों के अलावा इस जहाज पर H/PJ-11 क्लोज इन वेपन सिस्टम भी तैनात है, जो 10,000 राउंड प्रति मिनट की दर से फायरिंग कर सकता है। इसके अलावा इस युद्धपोत पर कम दूरी तक मार करने वाली HQ-10 मिसाइले और टारपीडो भी तैनात हैं। इसमें पनडुब्बियों को खत्म करने वाली डिकॉय लॉन्चर्स लगे हुए हैं।

चीनी नौसेना में शामिल होंगे 8 से अधिक टाइप 055 क्लास डिस्ट्रॉयर
चीन के टाइप 055 क्लास के पहला डिस्ट्रॉयर नानचांग को 28 जून, 2017 को शंघाई के जियांगन चांगकिंग शिपयार्ड में लॉन्च किया गया था। जबकि दूसरे जहाज को अप्रैल 2018 में उसी शिपयार्ड में लॉन्च किया गया था। इस तरह के 10 से अधिक डिस्ट्रॉयर्स को चीनी नौसेना में कमीशन करने की योजना है। इस समय चीन में काफी तेजी से इस सीरीज के युद्धपोतों को बनाने काम जारी है।

साल 2025 तक चीनी नौसेना में होंगे 400 बैटल फोर्स शिप
यूएस ऑफिस ऑफ नेवल इंटेलिजेंस (ONI) के अनुसार, 2015 में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी नेवी (PLAN) के बेड़े में 255 बैटल फोर्स शिप थे। साल 2020 के आते-आते चीनी नौसेना के पास कुल बैटल फोर्स शिप की तादाद बढ़कर 360 तक पहुंच गई, जो अमेरिकी नौसेना की कुल शिप से 60 ज्यादा है। ओएनआई ने भविष्यवाणी की है कि आज से चार साल बाद यानी 2025 तक चीन के पास कुल 400 बैटल फोर्स शिप होंगी।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: