रूस का Tu-160M Blackjack बमवर्षक विमान कितना खतरनाक? पहली उड़ान से ही अमेरिका परेशान!

स्टोरी शेयर करें



मॉस्को
रूस के अपग्रेडेड टुपोलेव टीयू-160 एम रणनीतिक बमवर्षक ने हाल ही में अपनी पहली उड़ान भरी है। टुपोलेव टीयू-160 एम को वाइट स्वान के नाम से भी जाना जाता है। Tu-160M ने पहली बार 1980 के दशक में सोवियत संघ की सेना में शामिल हुआ था और इसका उत्पादन 1995 तक चला। सोवियत संघ के विघटन और बढ़ती परिचालन लागत के कारण रूस ने इस विमान को सर्विस से हटा दिया था। इस विमान को रूस के PAK DA स्टील्थ स्ट्रैटजिक बॉम्बर प्रोग्राम में हो रही देरी के कारण अपग्रेड किया गया है। रूसी सेना में इस समय 17 टीयू-160 स्ट्रैटजिक बमवर्षक मौजूद हैं, जिन्हें अपग्रेड किया जा रहा है।

2220 किमी प्रति घंटे की स्पीड से उड़ सकता है यह विमान
Tu-160 की टॉप स्पीड 2220 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह विमान 110,000 किलोग्राम के कुल वजन के साथ उड़ान भरने में सक्षम है। इसके पंखों का फैलाव 56 मीटर है। इसकी पहली उड़ान 16 दिसंबर 1981 में आयोजित की गई थी। रिपोर्ट के अनुसार, नए टीयू-160एम ब्लैकजैक रणनीतिक बमवर्षक का परीक्षण 12 जनवरी को कजान एविएशन प्लांट के हवाई क्षेत्र में किया गया था। कजान एविएशन प्लांट का स्वामित्व विमान के डिजाइन ब्यूरो टुपोलेव के पास है। ये दोनों संस्थाएं अब यूनाइटेड एयरक्राफ्ट कॉरपोरेशन (UAC) के अधीन काम करती है। रूस की यूएसी सरकार के स्वामित्व वाली रोस्टेक इकाई का हिस्सा है।

1960 फीट पर 30 मिनट तक हवा में भरी उड़ान
यूएसी ने बताया कि नया टीयू-160एम 1960 फीट से अधिक की ऊंचाई पर उड़ाया गया और लगभग 30 मिनट तक हवा में रहा। टुपोलेव पीजेएससी के टेस्ट पायलटों ने हवा में विमान की स्थिरता और नियंत्रण की जांच की। यह विमान आधुनिक एवियॉनिक्स, रडार और कम्यूनिकेशन सिस्टम के साथ लैस है। इतना ही नहीं, यह बॉम्बर न सिर्फ बम बल्कि मिसाइलों को भी लंबी दूरी तक दागने में सक्षम है।

2015 में अपग्रेडेशन को लेकर किया गया था ऐलान
टीयू-160एम विमान की पहली उड़ान का आधिकारिक वीडियो रूसी रक्षा मंत्रालय के टेलीविजन स्टेशन TV Zvezda पर प्रसारित किया गया था। इस वीडियो में यह अपग्रेडेड बमवर्षक कजान एविएशन प्लांट के बर्फीले रनवे पर उड़ान भरता दिखाई दे रहा है। इस विमान को अपग्रेड करने का ऐलान और PAK DA स्टील्थ बॉम्बर के प्रॉजेक्ट को बंद करने की घोषणा अप्रैल 2015 में रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने की थी।

पुतिन की मौजूदगी में हुए थे हस्ताक्षर
जनवरी 2018 में कजान प्लांट में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की उपस्थिति में 10 नए Tu-160M को बनाने के औपचारिक आदेश पर हस्ताक्षर किया गया था। उस समय प्रत्येक नए बमवर्षक के एक इकाई लागत लगभग 270 मिलियन डॉलर रखी गई थी। तब उम्मीद की गई थी कि पहला विमान 2021 तक तैयार हो सकता है। रूसी एयरोस्पेस फोर्सेज ने कम से कम 50 नए अपग्रेडेड Tu-160M विमानों की जरूरत बताई है। हालांकि, अभी तक इतने विमानों को बनाने का कोई आदेश नहीं दिया गया है।

Tu-160 में क्या अपग्रेड किया गया
Tu-160 के अपग्रेडेड वेरिएंट को पहले Tu-160M2 के रूप में जाना जाता था, हालांकि अब इसे Tu-160M का नाम दिया गया है। यूनाइटेड एयरक्राफ्ट कॉरपोरेशन (यूएसी) का दावा है कि इस विमान के 80 फीसदी सिस्टम को अपग्रेड किया जा चुका है। यूएसी के जनरल डायरेक्टर यूरी स्लीसार ने बताया कि टीयू -160 विमानन उद्योग में सबसे बड़ी और सबसे उच्च तकनीक वाली परियोजनाओं में से एक है।

रूस के नए बॉम्बर से अमेरिका परेशान!
रूस के इस अपग्रेडेड बॉम्बर से अमेरिका की परेशानी बढ़ गई है। इस समय रूस और यूक्रेन के बीच तनाव चरम पर है। इसमें मध्यस्थता कर रहे अमेरिका ने कई बार रूस को हमले के खिलाफ चेतावनी भी दी है। इसके बावजूद रूस ने हर बार अमेरिका को दो टूक शब्दों में यूक्रेन के नाटो में शामिल होने का विरोध किया है। ऐसे में अगर इस विमान से रूस की सैन्य ताकत बढ़ती है तो वह अमेरिका के लिए चिंता की बात होगी।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: