मंदिर की लाइव स्ट्रीमिंग से अब श्रद्धालु घर बैठे कर सकेंगे मां नर्मदा का दर्शन

स्टोरी शेयर करें



अनूपपुर। आगामी नर्मदा जयंती सहित महाशिवरात्रि पर्व की तैयारियों के लिए अब जिला प्रशासन ने पुन: कार्ययोजनाएं बनाना आरम्भ कर दी है। जिसमें मंदिर से श्रद्धालुओं तक सीधा दर्शन बनाने की व्यवस्था के साथ साथ पिछले छह माह से बदहाल बनी पुष्कर डेम को भी संवारने का कार्य किया जा रहा है। इस कार्य के लिए खुद कलेक्टर व्यवस्थाओं की निगरानी कर रहे हैं। हाल के दिनों में कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने पुष्कर डैम में जल भराव की वास्तविक स्थितियों का मुआयना किया था। इस दौरान उन्होंने डब्ल्यूआरडीसी के अधिकारियों को नर्मदा उद्गम से पुष्कर डैम तक होने वाले जलभराव की स्थिति में नियमित नजऱ रखने के निर्देश दिए है। ताकि जरूरत के अनुसार डैम में कार्रवाई की जा सके। इसके साथ क्षेत्र में साफ-सफाई बनाए रखने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा स्वच्छता अभियान में स्थानीय निवासियों को शामिल किया जाए। उल्लेखनीय है कि अगस्त माह के दौरान बारिश का पानी और पुष्कर डैम में आने वाले नर्मदा उद्गम जल के तेज बहाव में डैम क्षति हो गया था, जिसमें डैम का पूरा पानी खाली हो गया था। इसकी मरम्मती के लिए डब्ल्यूआरडी विभाग ने पुष्कर डैम के गेट खोल दिए गए एवं मरम्मत कार्य आरम्भ किया। लेकिन मरम्मत कार्य नवम्बर माह में पूर्ण करते हुए पुन: डैम के गेट को बंद कर दिया गया है। जिसमें अब पानी का पुन: भराव आरम्भ हो गया है।
बॉक्स: घर बैठे मां नर्मदा का होगा दर्शन
एसडीएम पुष्पराजगढ़ अभिषेक चौधरी ने बताया कि मां नर्मदा उद्गम मंदिर के सौंदर्र्यीकरण का कार्य कराया जा रहा है। श्रद्धालुओं को अब घर बैठे मां नर्मदा के दर्शन उपलब्ध हो सकेंगे। इसके लिए सीसीटीवी कैमरे के स्थान पर लाइव स्ट्रीमिंग की व्यवस्था भी की जा रही है। जबकि मां नर्मदा मंदिर परिसर में इक्स्टीरीअर इमल्शन एवं अंदरूनी दीवारों पर आयल पेंट कराते हुए आकर्षित बनाया जा रहा है। इसके साथ ही मुख्य मंदिर में वॉटररूफिंग का कार्य भी किया गया। कार्यों में सौंदर्यीकरण के साथ परिसर की मज़बूती एवं निर्माण कार्य की सुरक्षा का भी ध्यान रखा गया है। लकड़ी की दान पेटियों को स्टेनलेस स्टील की दान पेटी से बदला गया है। वहीं मां नर्मदा उद्गम मंदिर एवं माई की बगिया में आगंतुक श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए नए टिकट घर बनाए गए हैं। पिछले 3 माह में श्रद्धालुओं द्वारा 6.4 लाख की क़ीमत की प्रसाद सामग्री का क्रय किया गया है। इनमें 1000 बॉटल नर्मदा उद्गम जल, 1000 पैकेट नारियल लड्डू एवं 4000 पैकेट भोग प्रसाद शामिल है। नारियल लड्डुओं का निर्माण श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाए गए नारियल का उपयोग करके स्थानीय स्वसहायता समूहों द्वारा किया जा रहा है।
बॉक्स: कल्याण सेवा आश्रम ने स्वच्छता के लिए दिए १५ लाख की सहायता
परम तपस्वी बाबा कल्याण दास जी महाराज जी ने मां श्री नर्मदा नदी की साफ-सफाई व स्वच्छता के लिए 15 लाख की राशि की देने की घोषणा की ह। श्री कल्याण सेवा आश्रम के प्रबंध न्यासी हिमाद्री मुनि महाराज, स्वामी जगदीशानंद जी महाराज ने पुष्पराजगढ़ एसडीएम से मिलकर नर्मदा नदी की सुंदरता, गहरीकरण, घाटों का निर्माण के विषय पर चर्चा की तथा कैसे नदी को सुंदर और स्वस्थ बनाया जा सकता है इस विषय पर मंथन किया और जल्द कार्य आरम्भ के आश्वासन दिए।
—————————————–



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: