शहडोल में खुलेगा फूड क्राफ्ट इंस्ट्रीट्यूट, हॉस्पिटेलिटी पाठ्यक्रम की पढ़ाई करेंगे आदिवासी अंचल के युवा

स्टोरी शेयर करें



शहडोल. पर्यटन के लिए हनुवंतिया की तर्ज पर शहडोल के सरसी और पहाडिय़ा को विकसित करने की कार्ययोजना के साथ एक और सौगात मिलने वाली है। जिले में जल्द ही फूड क्राफ्ट इंस्ट्रीट्यूट शुरू होगा। इसके लिए भूमि आवंटन के साथ सभी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। सबकुछ ठीक रहा तो आने वाले 10 दिन के भीतर जमीन अधिकारियों सौंपने के साथ ही भूमिपूजन किया जाएगा। इसके अलावा एक सप्ताह के भीतर मप्र टूरिज्म बोर्ड के अधिकारियों का दौरा भी प्रस्तावित है। कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह ने जिला मुख्यालय से लगे बरूका में 2.591 हेक्टयर भूमि प्रबंधक मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड भोपाल को आंवटित किया है। भूमि कुल 4 किता में है। जिसमें आराजी खसरा क्रमांक 9 अंश रकवा 0.607 हेक्टयर, खसरा क्रमांक 12 रकवा 0.486 हेक्टयर, खसरा क्रमांक 13 रकवा 0.243 हेक्टयर, खसरा क्रमांक14 रकवा 1.255 हेक्टेयर बरूका तहसील सोहागपुर में है। शहडोल में युवा-युवातियों के लिये हास्पिफ्टालिटी क्षेत्र के विभिन्न पाठ्यक्रमो में प्रशिक्षित कर रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में बड़ा कदम साबित होगा। आदिवासी अंचल में इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

टूरिज्म बोर्ड ने मांगी थी भूमि, शर्तों पर किया आवंटित
फूड क्राफ्ट इंस्ट्रीट्यूट खोलने प्रबंधक संचालक मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड भोपाल द्वारा मांग की गई थी। जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए कलेक्टर ने भूमि आंवटन की कार्यवाही शर्तो के आधार पर की गई है। भूमि का स्वरूप परिवर्तन नही किया जाएगा। भूमि में स्थिति किसी भी वृक्षंों को काटा नहीं जाएगा, किसी भी वन्य प्राणी को किसी तरह की क्षति नही पंहुचाया जाएगा। भूमि से ईंट व पत्थर तोडऩे की अनुमति नहीं होगी तथा उत्खनन कार्य नहीं किया जाएगा और भारत सरकार के साथ ही राज्य ारकार के द्वारा भविष्य में कोई नई शर्तें लागू की जाएगी तो उसे मानना होगा। भूमि को तहसीलदार को राजस्व अभिलेख में दर्ज करने के आदेश दिए गए है।
बॉक्स
डेढ़ साल का कोर्स, १०वीं और १२वीं के बाद प्रवेश
टूरिज्म बोर्ड से जुड़े अधिकारियों की मानें तो डेढ़ साल का कोर्स होगा। इसमें एक साल छात्र-छात्राओं की पढ़ाई कराई जाएगी। इसके बाद छह माह तक होटल में ट्रेनिंग कराई जाएगी। जल्द ही शहडोल में फूड क्राफ्ट इंस्ट्रीट्यूट शुरू होने के बाद प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। १०वीं और १२वीं के बाद सीधे छात्र प्रवेश ले सकेंगे।
बॉक्स
नौकरी के साथ खुद स्थापित कर सकेंगे रोजगार
अधिकारियों के अनुसार, फूड क्राफ्ट इंस्ट्रीट्यूट नोएडा नेशनल काउंसिल फार होटल मैनेजरमेंट से मान्यता रहेगी। डेढ़ साल के पूरे कोर्स के बाद आसानी से बड़े पांच सितारा होटलों में नौकरी भी मिल सकती है। इसके अलावा छात्र – छात्राएं खुद का होटल से जुड़ा कारोबार भी शुरू कर सकते हैं।

फूड क्राफ्ट इंस्ट्रीट्यूट खुलने से युवाओं को रोजगार मिलेगा। आदिवासी अंचल में पर्यटन के साथ रोजगार के अवसर को बढ़ावा देने की दिशा में मप्र टूरिज्म बोर्ड ने पहल की है। इसके लिए भूमि आवंटित कर दी गई है। अधिकारियों से बातचीत की गई है। जल्द ही भूमिपूजन कराया जाएगा।
डॉ सतेन्द्र सिंह, कलेक्टर शहडोल

देशभर में मिलेंगी नौकरियां
आदिवासी अंचल में रोजगार से जोडऩे की दिशा में प्रयास किया जा रहा है। यहां एक साल के कोर्स के बाद ट्रेनिंग दिलाई जाएगी। प्रशिक्षण के बाद आसानी से रोजगार स्थापित करने के साथ बड़े शहरों में नौकरी कर सकेंगे।
अजय कुमार सिंह, संयुक्त संचालक
मप्र टूरिज्म बोर्ड



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this:
  • whole king crab
  • king crab legs for sale
  • yeti king crab orange