चीख चीत्कार में बदल गया सफर, बस पलटने से दो की मौत, 16 घायल

स्टोरी शेयर करें



शहडोल. मंगलवार की सुबह मजदूरों से भरी बस जयसिंहनगर थानान्तर्गत टेटका मोड़ के समीप अनियंत्रित होकर पलट गई। देखते-देखते मजदूरों का सफर चीख चीत्कार में बदल गया। हादसे में दर्जर भर यात्री घायल हो गए वहीं दो की मौके पर मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल मजदूरों को इलाज के लिए जिला चिकित्सालय शहडोल में भर्ती कराया गया है। हादसा मंगलवार की सुबह का बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार, बस में 60-70 मजदूर सफर कर रहे थे। बताया गया कि कृष्ण ट्रेवल्स की बस क्रमांक सीजी 04-8733 बिलासपुर से मजदूरों को लेकर इलाहाबाद इटावा उत्त्तर प्रदेश जा रही थी। सुबह लगभग 5 बजे टेटका मोड़ के समीप बस अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में एक महिला और बच्ची की मौत हो गई। वहीं 30-35 यात्रियों को चोंट आई है। जिनमें से 6 मजदूरों को गंभीर चोट आई है जिन्हे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय शहडोल में भर्ती कराया गया है। वहीं जिन मजदूरों को सामान्य चोंट आई थी उनका सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जयसिंहनगर में इलाज कराया गया। घटना की सूचना पर मौके में पहुंची पुलिस जांच में जुटी हुई है।

छह लोगों को गंभीर चोट, कराया भर्ती
मंगलवार की अल सुबह हुए इस सड़क हादसे में पुष्पा केवट पति मेहतर केवट 40 वर्ष निवासी चुंचुनिया जिला मुंगेली छत्तीसगढ़ और अदिग्या यादव पिता अजय यादव 7 माह निवासी मेढ़पाल बाजार थाना हिर्री जिला बिलासपुर की मौत हो गई। वहीं शीतला 6 माह, राजकुमारी, राजाराम और लक्ष्मी यादव सहित छह लोगों को गंभीर चोंटे आई है। जिन्हे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय शहडोल में भर्ती कराया गया है। वहीं अन्य घायलों का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जयसिंहनगर में इलाज कराया गया।

मौके पर पहुंचे अधिकारी, यात्रियों को गंतत्व तक भेजा
घटना की सूचना मिलते ही एसडीएम जयसिंहनगर, एसडीओपी भविष्य भास्कर, जयसिंहनगर थाना प्रभारी योगेन्द्र सिंह परिहार अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। थाना प्रभारी योगेन्द्र सिंह परिहार द्वारा सभी घायलों व अन्य यात्रियों के लिए मौके पर ही चाय नाश्ते की व्यवस्था कराई। साथ ही परिवहन विभाग से चर्चा कर सभी को उनके गांव भिजवाने बसों की व्यवस्था के लिए बात की।

सक्रियता: सुबह डॉक्टरों को बुलाया, मेडिकल कॉलेज में की बात
सड़क हादसे की खबर लगते ही सीएमएचओ डॉ एमएस सागर ने जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों को बुला लिया। हड्डी रोग के अलावा आपातकालीन और मेडिसिन के डॉक्टर पहुंच गए। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन से बातचीत कर चाइल्ड स्पेशलिस्ट को भी बुला लिया गया। इस दौरान आरएमओ डॉ पुनीत श्रीवास्तव डॉ वीएस बारिया, डॉ हर्ष श्रीवास्तव, डॉ अरविंद अंबेडकर के अलावा डॉ मनीष सिंह डॉ मनीष मौर्य रहे।

कलेक्टर और एसपी पहुंचे अस्पताल, मरीजों से की बातचीत

हादसे की सूचना मिलते ही कलेक्टर डॉ सतेंद्र सिंह एवं पुलिस अधीक्षक अवधेश गोस्वामी जिला चिकित्सालय शहडोल पहुंच गए। जहां घायल मरीजों का हालचाल उनके परिजनों से पूछा एवं उन्हें दी जा रही चिकित्सकीय सुविधाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। इस दौरान कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एम.एस. सागर को घायल मरीजों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय परिसर का निरीक्षण किया एवं खिड़कियों, दरवाजे एवं रोशनदान में पेंट आदि कराने के निर्देश देते हुए कहा कि अस्पताल में बेहतर से बेहतर सफाई होना चाहिए। उन्होंने टूटी-फूटी टाइल्स हटाने के निर्देश दिए। इस दौरान जिला चिकित्सालय में आए हुए मरीजों को सोशल डिस्टेंसिंग रखने एवं मास्क का प्रयोग करने के समझाइश दी। यहां नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. व्ही.एस.वारियां सहित डॉक्टर मौजूद थे।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this:
  • whole king crab
  • king crab legs for sale
  • yeti king crab orange