BJP MLA ने कुछ इस अंदाज में किया किसान सम्मेलन का आगाज कि पब्लिक हो गई गदगद

स्टोरी शेयर करें



रीवा. अपने खास अंदाज के लिए क्षेत्र में मशहूर पूर्व मंत्री व विधायक राजेंद्र शुक्ल का काम हमेशा कुछ नया ही होता है। उनका हर अंदाज निराला है। यही वजह है कि क्षेत्रीय जनता भी हमेशा उऩसे खुश रहती है। अब सुशासन दिवस पर किसान सम्मेलन होना था, तो इसे भी विधायक शुक्ल ने खास बना दिया। इस सम्मेलन की आगाज उन्होंने कन्या पूजन से किया। उनके इस अंदाज की हर तरफ चर्चा रही।

किसान सम्मेलन को संबोधित करते विधायक राजेंद्र शुक्ला

कृष्णा राजकपूर आडिटोरियम में आयोजित इस किसान सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उद्बोधन का सजीव प्रसारण किया गया तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भी जनता को ऑनलाइन संबोधित किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि खेती के विकास से ही देश का विकास होगा। नए कृषि कानूनों के माध्यम से किसान को अपनी उपज बेचने के लिये अच्छे बाजार का अवसर दिया जा रहा है। पूरे देश में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन सुशासन दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। अटल जी ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तथा स्वर्णिम चतुर्भुज योजना जैसी परियोजनाओं से गांव और किसान की तकदीर बदल दी। उन्होंने सदैव सुशासन के लिए प्रयास किया। देश के करोड़ों किसानों को उनके बैंक खाते में सीधे राशि प्रदान करना अटल जी को श्रद्धांजलि होगी।

प्रधानमंत्री ने नए कृषि कानूनों के प्रावधानों तथा उनसे किसानों को होने वाले लाभों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानूनों में यदि किसी तरह की कमी है तो उस पर चर्चा करने के लिये सरकार खुले मन से तैयार है। निर्धारित मुद्दों पर चर्चा के लिए किसान हमारे साथ आएं।

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने होशंगाबाद जिले के बाबई में आयोजित राज्य स्तरीय सम्मेलन से किसानों को आनलाइन संबोधित किया। उन्होंने कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की सुविधा के लिये किसान मोबाइल एप लांच किया जा रहा है। इसके माध्यम से किसानों को अपनी फसल की गिरदावरी की जानकारी मिलेगी। किसान एप के माध्यम से आगामी 31 मार्च 2021 से अविवादित नामांतरण के प्रकरण निराकृत होंगे। इसके माध्यम से निर्धारित फीस जमा करके जमीन का डायवर्जन कराया जा सकेगा। किसान 100 रूपये फीस के साथ राजस्व प्रकरण दर्ज कर सकेंगे। सीमांकन के लिये भी आधुनिक मशीन के जरिये नई व्यवस्था लागू की जा रही है। इसके लिये पूरे प्रदेश में 90 कोर्स स्टेशन बनाए जाएंगे। प्रदेश में शीघ्र ही आधुनिक मशीन के जरिए हर मौसम में सीमांकन की सुविधा शुरू हो जाएगी। पटवारी को शीघ्र ही लैपटाप प्रदान किए जाएंगे। पटवारी अब प्रत्येक सोमवार तथा गुरूवार को मुख्यालय में अनिवार्य रूप से रहें। मुख्यमंत्री ने कृषि कानूनों से खेती में होने वाले विकास की जानकारी दी।

उन्होंने फसल बीमा, मुख्यमंत्री किसान कल्याण निधि, प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना तथा संबल योजना से किसानों को मिलने वाले लाभों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों की जानकारी देने के लिए सभी विकासखंड मुख्यालयों में किसानों के प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएगे। कृषि उपज मंडियां चलती रहेंगी तथा समर्थन मूल्य पर किसानों से अनाज का उपार्जन बंद नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में किसानों के कल्याण के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: