सर्दी का सितम, पारा @5° C के आसपास

स्टोरी शेयर करें



रीवा. सर्दी का सितम ये कि हड्डियां तक कड़ड़ा जा रहीं। कोहरा इतना कि कुछ भी दिख नहीं रहा। कमरे में रखे कपड़े भी ऐसे लग रहे मानों कचार कर निचोड़ा गया हो। पारा @5° C के आसपास जैसे ठहर गया हो। ऐसी गलन कि हाथ मानों कट कर गिर जाए। लेकिन बेसहारों के लिए कोई इंतजाम नहीं।

कड़कड़ती ठंड के बीच चल रही सर्द हवाओं ने जीना मुश्किल कर दिया है। रात को चाहे जितना ओढ़ लें पर ठंड है कि जाती नहं। सुबह नींद खुलने पर यह समझ में ही नहीं आ रहा कि करें तो क्या करें। कैसे आफिस-दफ्तर, दुकान जाएं। नित्य कर्म करना भी कठिन हो गया है। पानी छूते ही जैसे करंट लग रहा है। भयंकर गलन के बीच लोग जैसे-तैसे तैयार हो कर कामकाज को निकल रहे। मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान 5.4 डिग्री के आसपास रहा।

ठंड और कोहरा सड़कों पर पसरा सन्नाटा

इस गलन वाले सर्द मौसम में बचाव का एक मात्र सहारा आग ही है। कारण प्रशासन की ओर से अब तक कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। न कहीं अलाव जलता नजर आ रहा न ही पर्याप्त सेल्टर होम हैं। ऐसे में आमजन जैसे तैसे जो मिल रहा उसे जला कर आग सेंक कर दिन गुजार रहे हैं।

उधर शहर के मध्य से बहने वाली बीहर नदी का नजारा कोहरा और मौसम के बीच देखते ही बन रहा था। चट्टानों से गिरने वाले पानी से जहां धुआ जैसे निकल रहा था। यह अद्भुत दृश्य रहा। कुछ लोग इसका आनंद लेते नजर आए।

कोहरा इतना है कि कि नेशनल हाईवे-135 पर मऊगंज थाना के बाईपास पर एक-एक करके 2 बाइक सवार आपस में टकरा गए। बताया जा रहा है कि गांव से आ रहा बाइक सवार हाईवे के डिवाइडर से टकराया। फिर दूसरा, पहले वाले से जा भिड़ा। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची। हालांकि दोनों को बहुत गंभीर चोट नहीं आई थी।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: