स्वाइल टेस्ट के बाद फिर अटका रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण, संशय में विभाग

स्टोरी शेयर करें



अनूपपुर। अनूपपुर रेलवे फाटक पर प्रस्तावित ओवरब्रिज निर्माण की सारी प्रक्रियाओं के बाद निर्माण कार्य के आरम्भ पर बना संशय छंटने का नाम नहीं ले रहा है। हर चुनावी मंच से ओवरब्रिज बनाने की घोषणा हुई, लेकिन हर बार मामला अटक सा गया। इस वर्ष भी अनूपपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए हुए उपचुनाव से पूर्व खुद प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रेलवेे फाटक पर प्रस्तावित ओवरब्रिज निर्माण का शिलान्यस किया, वहीं प्रदेश खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने मंच से चुनाव के उपरांत ओवरब्रिज निर्माण आरम्भ की घोषणा की। बावजूद १२.०१ करोड़ की लागत से तैयार होने वाली परियोजना स्वाइल टेस्टिंग के बाद फिर अटक गई है। स्वाइल टेस्टिंग का कार्य समाप्त हुए माहभर से अधिक समय बीत गए हैं, लेकिन रेलवे ओवरब्रिज के लिए निर्माण कार्य आरम्भ नहीं हो सका है। माना जाता है कि सरकार के पास बजट की कमी के कारण इसका निर्माण कार्य आरम्भ नहीं हो रहा है। हालंाकि इससे पूर्व रेलवे के पास पटरियों के लिए उपर स्पॉन की डिजाइन को लेकर मामला अटका रहा, जिसमें रेलवे द्वारा बार बार डिजाइन बदलाव कर स्पॉन की लम्बाई अधिक बढ़ाना चाहता था, लेकिन रेलवे अधिकारियों व पुल निगम अधिकारियों द्वारा किए गए सर्वे और तैयार डिजाइन में पूर्व निर्धारित स्पॉन की लम्बाई ५७ मीटर पर ही सहमति बनी। जिसके बाद रेलवे ने फाइनल डिजाइन ५७ मीटर लम्बी स्पॉन पर ओवरब्रिज निर्माण की अनुमति प्रदान कर दी। लेकिन अब रेलवे की हरी झंडी मिलने बाद बजट और विभागीय स्तर पर कार्य आरम्भ करवाने का रोड़ा अटक गया है।
बॉक्स: १२.०१ करोड़ की लगात से ५१९. ४४ मीटर लम्बी ओवरब्रिज
विभागीय जानकारी के अनुसार सेतु निगम विभाग द्वारा पूर्व में ११७०.५४ लाख की लागत से ओवरब्रिज का निर्माण कराया जाना प्रस्तावित किया गया था। लेकिन अब इसमें ३१ लाख अतिरिक्त बजट बढाते हुए १२.०१ करोड़ निर्धारित किया गया है। जिसमें पुल की चौड़ाई १२-१२ मीटर और लम्बाई ४६२.४४ मीटर निर्धारित की गई है। वहीं रेलवे की पटरियों के उपर ५७ मीटर लम्बी स्पॉन बनाया जाएगा। इसके अलावा ब्रिज में पिलर और आड़ीबॉल का भी उपयोग किया जाएगा। कोतवाली थाना की ओर से पुल में ६ पिलर खड़े किए जाएंगे, जबकि जिला अस्पताल की दिशा से ४ पिलर को खड़ा किया जाएगा। वहीं दोनों छोर पर ५०-५० मीटर लम्बी बीबीसी का निर्माण कराया जाएगा। साथ ही ३-३ मीटर की चौड़ी सर्विस रोड का निर्माण कराया जाएगा।
बॉक्स: दो साल पूर्व बंट चुका है ७.६३ करोड़ का मुआवजा
फरवरी २०१८ में राजस्व विभाग अनूपपुर द्वारा प्रभावित २८ भू-स्वामियों के बीच ७ करोड़ ६३ लाख ५४ हजार मुआवजा राशि का वितरण कराया जा चुका है। जिसमें मुआवजा वितरण के २० दिनों बाद भी ओवरब्रिज निर्माण कराने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन दो साल बाद भी ओवरब्रिज का निर्माण आरम्भ नहीं हो सका है।
बॉक्स: बार बार बदलता रहा डिजाइन
वर्ष २०१६ के दौरान शासन द्वारा जिला प्रशासन के प्रस्तावित मांग पर ९० फीट चौड़ी ओवरब्रिज निर्माण कराया जाना था, जिसमें ६१२ मीटर लम्बी फ्लाईओवर निर्माण के लिए अनुमति प्रदान की थी। इसमें विरोध के उपरांत अनेक बार पुल की चौड़ाई में बदलाव करते हुए प्रशासन ने अंत में २२ मीटर चौड़ी ओवरब्रिज निर्माण की योजना पर मंजूरी प्रदान की थी। जिसमें ११-११ मीटर चौड़ी पुल के साथ ५-५ मीटर सर्विस लाईन निर्धारित किया गया था। लेकिन अब १२-१२ मीटर के साथ ४६२.४४ मीटर लम्बी पुल पर अनुमति प्रदान हुई है।
———————————



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: