नल जल परियोजना में देरी, पानी के लिए परेशान पथरौडी गांव के 900 परिवार

स्टोरी शेयर करें



अनूपपुर। कोतमा जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत पथरौडी में पेयजल आपूर्ति की समस्या को देखते हुए शासन द्वारा यहां नल जल योजना स्वीकृत किया गया, ताकि ग्राम पंचायत की पेयजल समस्या दूर किया जा सके। लेकिन नल जल योजना के प्रति पंचायत की अनदेखी और ठेकेदार की लापरवाही के कारण विलंब से आरम्भ हुआ कार्य अपने निर्धारित समय सीमा में अब तक पूरा नहीं हो सका है। ठेकेदार द्वारा कराया जा रहा कार्य आधा अधूरे में पड़ा हुआ है। जिसके कारण ग्रामीणों को पेयजल समस्या का सामना करना पड़ रहा है। विभाग द्वारा 72 लाख 17 हजार की लागत से यह कार्य कराया जा रहा है। जिस ठेकेदार को यह कार्य सौंपा गया है पूर्व में उसके द्वारा ग्राम पंचायत थानगांव में भी नल जल योजना का कार्य किया गया था, जिसे उसके द्वारा अभी तक पूरा नहीं किया गया है। ऐसे में उसी फर्म को दोबारा कार्य भी दे दिया गया, हालात यह है कि सालभर बाद भी जलापूर्ति की योजना अधूरी पड़ी है। ग्रामीणों का कहना है कि पथरौडी में वर्तमान में 900 की आबादी 12 वार्डों में निवासरत है। ग्राम पंचायत की पथरीली जमीन होने के कारण यहां पर हैंडपंप और कुएं भी सफल नहीं हुए है। जिसे देखते हुए यहां नल जल योजना स्वीकृत किया गया था। ऐसे में स्थानीय ग्रामीणों को दूरदराज से पानी लाना पड़ रहा है।
बॉक्स: मई में होना था पूरा दिसंबर बीत गया
विभाग द्वारा ठेकेदार को 15 नवंबर 2019 को इस कार्य को पूरा करने की जिम्मेदारी दी गई थी। जिसमें ठेकेदार को 6 महीने का समय दिया गया था। दोबार कार्य पूर्ण के लिए दिए गए मोहल्त में ठेकेदार को मई 2020 तक कार्य पूरा करना था। लेकिन अभी तक ओवरहेड टैंक का कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है। इसके साथ ही पाइपलाइन विस्तार का कार्य सभी वार्डों में नहीं हो सका है। ठेकेदार की लेटलतीफी के कारण गर्मियों में भी ग्रामीणों को पानी नहीं मिल पाएगा।
————————————————



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: