लाठी, अबोला, चौपाल और अब गोबर…शराबबंदी को लेकर उमा भारती की नई धमकी में कितना दम?

स्टोरी शेयर करें


भोपालः मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शराबबंदी की मांग को लेकर बीजेपी सरकार को फिर चेतावनी दी है। छिंदवाड़ा में शराब के ठेके पर लगे भगवा झंडे को देख गुस्साई उमा ने कहा है कि प्रदेश में निकाय चुनावों के बाद वे शराबबंदी के खिलाफ अभियान शुरू करेंगी। उन्होंने ठेके पर लगे झंडे को तत्काल हटवाया और गोबर फेंककर अपना विरोध जताया। हालांकि, वे इससे पहले भी कई बार शराबबंदी को लेकर शिवराज सरकार को चेतावनी दे चुकी हैं, लेकिन फिर इससे मुकर भी चुकी हैं। इसको लेकर उनका मजाक भी बनाया जाता है। विपक्षी कांग्रेस पार्टी के जीतू पटवारी ने तो उनकी नई चेतावनी पर यह कह दिया है कि उमा शराब माफिया से कमीशन हासिल करने के लिए केवल डराती हैं।

डेढ़ साल से दे रही धमकियां
उमा भारती पिछले डेढ़ साल से शराबबंदी के मुद्दे पर लगाताक मुखर हैं। इसकी शुरुआत तब हुई थी जब मुरैना में अवैध शराब पीने से करीब 20 लोगों की जान चली गई थी। इस पर मचे बवाल के बीच उमा ने गुजरात और बिहार की तरह शिवराज सिंह चौहान सरकार से एमपी में भी पूर्ण शराबबंदी लागू करने की मांग की थी। उमा ने चेतावनी दी थी कि सरकार ने उनकी बात नहीं मानी तो वे 8 मार्च से पूरे राज्य में इसके खिलाफ अभियान चलाएंगी।

लाठी लेकर सड़क पर उतरने की चेतावनी
इसी बीच कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई और उनका अभियान शुरू नहीं हो सका। करीब छह महीने तक चुप रहने के बाद उन्होंने पिछले साल सितंबर में शिवराज सरकार को फिर चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि सरकार ने शराबबंदी पर फैसला नहीं लिया तो वे महिलाओं के साथ लाठी लेकर सड़कों पर उतर जाएंगी। हालांकि, इस पर भी उन्होंने अमल नहीं किया।

शिवराज पर अबोला का लगाया आरोप
इस साल की शुरुआत में उमा ने शराबबंदी को लेकर सीधे शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोल दिया। उन्होंने कहा कि शिवराज पहले उनसे बात करते थे, लेकिन शराबबंदी की मांग के चलते अब अबोला कर लिया है। अंततः शिवराज को बयान देना पड़ा कि वे शराबबंदी ही नहीं, प्रदेश में पूरी तरह नशेबंदी के पक्ष में हैं और उनकी सरकार इसके लिए अभियान शुरू करेगी। इसके ठीक बाद उमा ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के बयान से संतुष्ट हैं और नशाबंदी अभियान में सरकार का सहयोग करेंगी। इस तरह उनकी एक और धमकी बेमतलब साबित हो गई।

पहले पत्थर फेंका, अब गोबर
उमा भारती हालांकि इसके बाद भी चुप नहीं बैठीं। करीब दो महीने पहले उन्होंने भोपाल में एक शराब की दुकान पर पत्थर फेंक दिया। इसके कुछ सप्ताह बाद वे अचानक भोपाल में एक शराब के ठेके पर पहुंची और चौपाल लगा ली। अब उन्होंने छिंदवाड़ा में शराब के ठेके पर गोबर फेंककर नई चेतावनी जारी की है।

तीन साल में बदल गई प्रदेश की राजनीति
दरअसल, साल 2018 के अंत में उमा ने कहा था कि वे तीन साल तक चुनावी राजनीति से दूर रहेंगी। यह समयसीमा अब खत्म हो चुकी है और वे प्रदेश की राजनीति में वापसी करना चाहती हैं। लेकिन इस बीच में एमपी की राजनीति काफी बदल चुकी है। ज्योतिरादित्य सिंधिया की बीजेपी में एंट्री से एक नया पावर सेंटर बन चुका है। उमा भारती के संबंध न तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से अच्छे हैं और न ही मोदी-शाह की जोड़ी से। इसलिए, उनके लिए वापसी के रास्ते पहले से ज्यादा मुश्किल हो गए हैं।

धमकियों के पीछे वापसी की छटपटाहट
उमा भारती भी इस सच्चाई से वाकिफ हैं। वे जानती हैं कि 2023 में एमपी में होने वाले विधानसभा चुनाव बीजेपी के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। इसलिए, वे रह-रह कर शिवराज सरकार को अपनी धमकियों से डराती हैं, लेकिन अपने लिए दूसरे विकल्प भी खुले रखना चाहती हैं। इसलिए उन्होंने यह भी कहा है कि वे 2024 में लोकसभा चुनाव भी लड़ना चाहती हैं। उमा भारती की धमकियों की असली वजह सक्रिय राजनीति में वापसी की छटपटाहट है। उन्हें उम्मीद है कि पार्टी संगठन उनके लिए वापसी का रास्ता तैयार करेगा। यदि ऐसा होता है तो ठीक वरना उनकी धमकियों का सिलसिला शायद आगे भी इसी तरह जारी रहे।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this:
  • https://batve.com/cheapjerseys.html
  • https://batve.com/cheapnfljerseys.html
  • https://batve.com/discountnfljersey.html
  • https://booktwo.org/cheapjerseysfromchina.html
  • https://booktwo.org/wholesalejerseys.html
  • https://booktwo.org/wholesalejerseysonline.html
  • https://bjorn3d.com/boutiquedefootenligne.html
  • https://bjorn3d.com/maillotdefootpascher.html
  • https://bjorn3d.com/basdesurvetementdefoot.html
  • https://www.djtaba.com/cheapjerseyssalesonline.html
  • https://www.djtaba.com/cheapnbajersey.html
  • https://www.djtaba.com/wholesalenbajerseys.html
  • http://unf.edu.ar/classicfootballshirts.html
  • http://unf.edu.ar/maillotdefootpascher.html
  • http://unf.edu.ar/classicretrovintagefootballshirts.html
  • https://jkhint.com/cheapnbajerseysfromchina.html
  • https://jkhint.com/cheapnfljersey.html
  • https://jkhint.com/wholesalenfljerseys.html
  • https://www.sharonsalzberg.com/cheapnfljerseysfromchina.html
  • https://www.sharonsalzberg.com/nikenfljerseyschina.html
  • https://www.sharonsalzberg.com/wholesalenikenfljerseys.html
  • https://shoppingntoday.com/destockagerepliquesmaillotsfootball.html
  • https://shoppingntoday.com/maillotdefootpascher.html
  • https://shoppingntoday.com/footballdelargentinejersey.html
  • https://thetophints.com/maillotdeclub.html
  • https://thetophints.com/maillotdeenfant.html
  • https://thetophints.com/maillotdefootpascher.html
  • http://world-avenues.com/maillotdefemme.html
  • http://world-avenues.com/maillotdefootenfant.html
  • http://world-avenues.com/maillotdefootpascher.html
  • https://ganeshastudio.de
  • https://gapcertification.org
  • https://garagen-galerie.de
  • https://garderie-nitza.com
  • https://garderis.com
  • https://gartenmieten.de
  • http://garyivansonlaw.com
  • http://gastrojob24.com
  • https://gatepass.zauca.com
  • https://gaticargoshifting.com
  • https://gba-adviseurs.nl
  • http://geargnome.com
  • https://geboortelekkers.nl
  • http://gecomin.org
  • https://geekyexpert.com
  • https://gemstonescc.com
  • http://gemworldholdings.com
  • http://generacionpentecostal.com
  • https://generalcontractorgroup.com
  • https://genichikadono.com
  • https://georg-annaheim.com
  • https://georgiawealth.info
  • https://geosinteticos.com.ar
  • https://geronimoandchill.be
  • https://gestoyco.com
  • https://gezginyazar.com
  • https://gezinsbondmullem.be
  • http://giacchini.it
  • http://gianniautoleasing.iseo.biz
  • http://gigafiber.bg