जयराम रमेश का बड़ा आरोप, कांग्रेस को आर्थिक रूप से अपंग बना रही BJP और मोदी सरकार

स्टोरी शेयर करें


कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा और मोदी सरकार कांग्रेस को आर्थिक रूप से अपंग बना रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पर आर्थिक हमला कर, कांग्रेस को कमजोर करने की कोशिश कर रही है। जिस तरह से 2016 में नोटबंदी हुई थी, उसी तरह अब मोदी सरकार कांग्रेस के खिलाफ ‘खाता बंदी’ अभियान चला रही है। कांग्रेस सांसद ने कहा कि हम डरने वाले नहीं हैं, हम इसका डटकर मुकाबला करेंगे। यह ब्लैकमेल की राजनीति है, ‘हफ्तावसूली’ का प्रतीक है।  
 

इसे भी पढ़ें: पूर्वसैनिकों की रिहाई का स्वागत, सरकार ने समय रहते कदम नहीं उठाया: Congress

जयराम रमेश ने कहा कि साल 2018-2023 के बीच करीब 30 निजी कंपनियों के खिलाफ एजेंसियों ने एक्शन लिया। फिर इन्हीं कंपनियों से पिछले चार साल में BJP को 335 करोड़ रुपए का चंदा मिला है। ये ‘हफ्ता वसूली’ है। इससे पहले आयकर विभाग द्वारा एआईसीसी, भारतीय युवा कांग्रेस और एनएसयूआई खातों से 65.89 करोड़ रुपये काटे जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पार्टी नेता केसी वेणुगोपाल ने गुरुवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस के बैंक खातों से पैसे चुरा रही है। राजनेता ने कहा कि जब कांग्रेस केंद्र में सत्तारूढ़ थी तो उसने कभी भी भाजपा के साथ ऐसा व्यवहार नहीं किया। 
कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल मे कहा कि यह स्पष्ट रूप से भाजपा सरकार द्वारा कांग्रेस पार्टी पर थोपा गया वित्तीय आतंकवाद है। बैंकों से मिली ताजा जानकारी के मुताबिक, बीजेपी सरकार ने बैंकों को हमारी जमा राशि में से करीब 65.89 करोड़ रुपये सरकार को ट्रांसफर करने के लिए मजबूर किया। कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि यह रकम AICC, IYC और NSUI की है। भाजपा के विपरीत, हमने यह पैसा पार्टी के सामान्य कार्यकर्ताओं से हासिल किया। संसदीय चुनाव से ठीक पहले इसका क्या मतलब है? वे अनिवार्य रूप से बैंक से हमारा पैसा चुरा रहे हैं। 
 

इसे भी पढ़ें: नेहरू की आलोचना करने पर कांग्रेस का मोदी पर पलटवार, जयराम रमेश बोले- असुरक्षा और हीनभावना से हैं ग्रस्त हैं PM

इस मौके पर अजय माकन ने कहा कि मोदी सरकार और इनकम टैक्स के अधिकारियों ने कांग्रेस के बैंक खातों से 65.8 करोड़ रुपए चोरी कर लिए। इस मामले में हमने इनकम टैक्स अपीलेट ट्रिब्यूनल में अर्जी थी, जिसमें 21 फरवरी को सुनवाई होनी थी। लेकिन सुनवाई से एक दिन पहले इनकम टैक्स के अफसरों ने बैंक शाखाओं में जाकर धमकी दी और डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से देकर 65.8 करोड़ वसूल लिए। माकन ने कहा कि राजनीतिक पार्टियां इनकम टैक्स से मुक्त होती हैं। क्योंकि पार्टी के पास जो पैसा आता है वह देश में लोकतंत्र को जिंदा रखने के लिए आता है, यह किसी भी प्रकार की आय नहीं है। क्या BJP ने कभी भी इनकम टैक्स दिया है? अगर कांग्रेस पार्टी से इनकम टैक्स लिया जा रहा है तो BJP से क्यों नहीं लिया जा रहा है। 



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements