Bihar Politics: जेडीयू ने दिखाए तेवर तो डैमेज कंट्रोल में उतरी बीजेपी, नीतीश के इस ‘दोस्त’ ने संभाला मोर्चा

स्टोरी शेयर करें



पटनाअरुणाचल प्रदेश में हुई पार्टी की टूट को लेकर जेडीयू नेतृत्व बीजेपी से खफा (JDU BJP Gathbandhan) है। यही नहीं बीजेपी पर गठबंधन धर्म नहीं निभाने का आरोप भी लगाया। खुद नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने रविवार को हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी (JDU National Executive Meet) की बैठक में कहा कि हमारे मनोबल को तोड़ने की कोशिश की गई, लेकिन हम घबराते नहीं हैं। जेडीयू के इस बदले तेवर को देखते हुए आखिरकार बीजेपी (BJP) ने डैमेज कंट्रोल का रास्ता अपनाया है। दोनों सहयोगी दलों के बीच बढ़ती दरार को पाटने के लिए बीजेपी ने नीतीश कुमार के पुराने दोस्त और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Kumar Modi) को आगे कर दिया। उन्होंने भी मोर्चा संभालते हुए कहा कि बीजेपी-जेडीयू गठबंधन बिहार में अटूट है।

Bihar News: सीएम पद को लेकर नीतीश (Nitish Kumar) के बयान पर भी सुशील मोदी (Sushil Modi) ने उनका समर्थन किया है। बीजेपी नेता ने कहा कि नीतीश कुमार अपने मन से मुख्यमंत्री नहीं बने बल्कि बीजेपी और गठबंधन के दूसरे दलों के आग्रह के बाद उन्होंने यह जिम्मेदारी संभाली थी।

Bihar Politics: जेडीयू ने दिखाए तेवर तो डैमेज कंट्रोल में उतरी बीजेपी, नीतीश के इस 'दोस्त' ने संभाला मोर्चा

पटना

अरुणाचल प्रदेश में हुई पार्टी की टूट को लेकर जेडीयू नेतृत्व बीजेपी से खफा (JDU BJP Gathbandhan) है। यही नहीं बीजेपी पर गठबंधन धर्म नहीं निभाने का आरोप भी लगाया। खुद नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने रविवार को हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी (JDU National Executive Meet) की बैठक में कहा कि हमारे मनोबल को तोड़ने की कोशिश की गई, लेकिन हम घबराते नहीं हैं। जेडीयू के इस बदले तेवर को देखते हुए आखिरकार बीजेपी (BJP) ने डैमेज कंट्रोल का रास्ता अपनाया है। दोनों सहयोगी दलों के बीच बढ़ती दरार को पाटने के लिए बीजेपी ने नीतीश कुमार के पुराने दोस्त और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Kumar Modi) को आगे कर दिया। उन्होंने भी मोर्चा संभालते हुए कहा कि बीजेपी-जेडीयू गठबंधन बिहार में अटूट है।

इसलिए बीजेपी ने सुशील मोदी को किया आगे
इसलिए बीजेपी ने सुशील मोदी को किया आगे

बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी कई मौकों पर नीतीश कुमार की तारीफ कर चुके हैं। एक बार फिर से उन्होंने नीतीश की नाराजगी को दूर करने की कवायद शुरू की। चाहे सीएम पद को लेकर नीतीश कुमार का बयान हो या फिर अरुणाचल का घटनाक्रम सभी मुद्दों पर बीजेपी के दिग्गज नेता ने अपनी बात रखी। सुशील मोदी ने कहा कि जेडीयू के नेता पहले ही कह चुके हैं कि अरुणाचल प्रदेश में जो कुछ हुआ उससे बिहार में गठबंधन और सरकार पर कोई असर नहीं पड़ेगा। नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।

नीतीश के सीएम पद को लेकर दिए बयान का किया बचाव
नीतीश के सीएम पद को लेकर दिए बयान का किया बचाव

सीएम पद को लेकर नीतीश के बयान पर भी सुशील मोदी ने उनका समर्थन किया है। बीजेपी नेता ने कहा कि नीतीश कुमार अपने मन से मुख्यमंत्री नहीं बने बल्कि बीजेपी और गठबंधन के दूसरे दलों के आग्रह के बाद उन्होंने यह जिम्मेदारी संभाली थी।

सुशील मोदी ने कैसे किया नीतीश का समर्थन
सुशील मोदी ने कैसे किया नीतीश का समर्थन

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने पहुंचे पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने ये बातें कही हैं। उन्होंने नीतीश के दबाव में सीएम बनाए जाने की बात का बचाव किया। कहा कि चुनाव में वह सीएम का चेहरा थे और हमने उनके नाम और विजन पर ही चुनाव लड़ा। लोगों ने भी उन्हें वोट दिया।

क्या दूर होगी जेडीयू की नाराजगी
क्या दूर होगी जेडीयू की नाराजगी

सुशील मोदी ने बीजेपी-जेडीयू गठबंधन के कॉर्डिनेशन में किसी भी कमी से इनकार किया है। उन्होंने कहा कभी-कभी कुछ बातों पर मतभेद हो जाते हैं, लेकिन जेडीयू और बीजेपी के बीच बिहार में तालमेल इतना बेहतर है कि इन मतभेद को दूर कर लिया जाएगा। सुशील मोदी ने आरसीपी सिंह को जेडीयू का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने पर बधाई दी है और कहा कि उनसे हमारे अच्छे संबंध हैं। उनके नेतृत्व में बेहतर काम होगा।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: