Sanjay Raut : रामदास आठवले का राउत को जवाब, कहा-हम भी दिखाएंगे, हममें है कितना दम

स्टोरी शेयर करें



मुंबई
ईडी की तरफ से नोटिस मिलने के बाद नेता संजय राउत केंद्र सरकार पर हमलावर हैं। सीधे टकराने की मंशा जाहिर करते हुए उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा, ‘आ देखें जरा किसमें कितना है दम’। इस पर केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने मोर्चा संभाला और राउत को जवाब देते हुए पलटवार किया। उन्होंने कहा, ‘हम भी दिखाएंगे कि हममें है कितना दम’। उन्होंने आगे कहा कि ईडी एक स्वतंत्र एजेंसी है। उसकी तरफ से राजनीतिक द्वेष के चलते कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। अगर किसी के कागजात में कोई दिक्कत होती है तो ही ईडी की ओर से नोटिस जाता है।

राउत ने ट्वीट कर दिया था जवाब
पत्नी को ईडी का समन मिलने के बाद संजय राउत ने किसी का नाम न लेते हुए ट्वीट कर एक गाने की दो लाइनें लिखते हुए निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था ,’आ देखें जरा किसमें कितना है दम, जमकर रखना कदम मेरे साथिया’, आपको बता दें कि इसके पहले दो समन जो ईडी की तरफ से भेजे गए थे उनमें वर्षा राउत स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए ईडी के समक्ष पेश नहीं हुई थीं।

राउत की पत्नी को ईडी का नोटिस
शिवसेना की पत्नी वर्षा राउत को एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट ने नोटिस बेचकर 29 दिसंबर को कार्यालय में पेश होने के लिए कहा है। ईडी उस 55 लाख रुपये के लेनदेन के मामले में पूछताछ करने चाहती है। जिसमें वर्षा राउत ने पीएमसी बैंक एकाउंट से संजय राउत के सहयोगी के साथ पैसों का लेनदेन किया था।

क्या है पूरा मामला
यह पूरा मामला एचडीआईएल से जुड़ा हुआ है। एचडीआईएल के वाधवान बंधु को पीएमसी बैंक घोटाला मामले में गिरफ्तार किया गया था। शुरुआत में इस मामले की जांच आर्थिक अपराध शाखा कर रही थी। लेकिन बाद में इसकी जांच ईडी को सौंप दी गई थी। वाधवान बंधुओं के करीबी माने जाने वाले प्रवीण राउत से भी पूछताछ की गई है। प्रवीण राउत संजय राउत के करीबी माने जाते हैं। गोरेगांव के एक प्रोजेक्ट का काम एचडीआईएल कर रहा था जिसमें घोटाले का शक था। इस मामले में वाधवान बंधुओं को गिरफ्तार किया गया था।

प्रवीण राउत की पत्नी के एकाउंट से पैसे ट्रांसफर
प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी राउत के अकाउंट से 55 लाख रुपये संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत के एकाउंट में ट्रांसफर किये गए थे। इन्हीं पैसों को लेकर ईडी पूछताछ करने चाहती है। इसी लिए ईडी ने नोटिस भेजा है।

क्या है पीएमसी बैंक घोटाला
पीएमसी बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 65 सौ करोड़ रुपये का कर्ज देने की बात रिज़र्व बैंक की नज़र में साल 2019 आई थी। ये लेनदेन पूरा न हो पाए इसलिए रिज़र्व बैंक ने सिंतबर 2019 में कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। यह प्रतिबंध साल 2021 के मार्च महीने तक बढ़ा दिए गए हैं। पीएमसी बैंक घोटाला मामले में आर्थिक अपराध शाखा ने सारंग वाधवान और राकेश वाधवान को गिरफ्तार किया था। पीएमसी बैंक को डुबाने में जो 44 एकाउंट्स अहम थे उनमें से 10 खाते एचडीआईएल के थे।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: