‘सुर्खियों में बने रहने के लिए गैर जिम्मेदाराना बयान देना कांग्रेस का चरित्र’, Digvijay Singh के बयान पर भाजपा का निशाना

स्टोरी शेयर करें


कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा हमले को लेकर एक बार फिर से केंद्र सरकार पर सवाल खड़े किए है। दिग्विजय सिंह के बयान को लेकर भाजपा पर हमलावर हो गई है। भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि आज हमें बड़े भारी मन से ये कहना पड़ रहा है कि भारत जोड़ा यात्रा तो नाम की है… भारत को तोड़ने का कार्य स्वयं राहुल गांधी और कांग्रेस के तमाम नेता उनके निशाने पर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुर्खियों में बने रहने के लिए गैर जिम्मेदाराना बयान देना कांग्रेस पार्टी का चरित्र है लेकिन अगर आप भारतीय सेना के खिलाफ बोलेंगे तो ये देश सहन नहीं करेगा। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि जब भी हमारी वीर सेना अपना पराक्रम दिखाती है तो सबसे अधिक दर्द उस देश को होता है जिसको सबक सिखाया जाता है, जो विश्व में अपनी आतंकी गतिविधियों को लेकर जाना जाता है। लेकिन यह दुखद है कि दर्द भारत की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस को होता है। 
 

इसे भी पढ़ें: Digvijay Singh ने उठाए सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल, केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा- दावे बड़े-बड़े लेकिन प्रमाण कुछ नहीं

भाजपा नेता ने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा के दौरान लोगों को एकजुट करने और प्यार और शांति फैलाने के दावे नाम मात्र का कार्य है, लेकिन असली मकसद भारत को तोड़ना है। दिग्विजय सिंह के बयान उसी का एक उदाहरण हैं और सिंह द्वारा इस्तेमाल की गई भाषा यह दर्शाती है कि यह भारत तोड़ो यात्रा है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी जी से नफरत करते करते राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह अब अंधे हो गए हैं और उनको अपनी जिम्मेदारी का भी अब अहसास नहीं है। देश के लिए भक्तिभाव भी उनके भीतर समाप्त हो गया है। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियों की जनता के प्रति जिम्मेदारी होती है लेकिन कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद यह देसी आतंकवाद का परिणाम है। 
 

इसे भी पढ़ें: Rahul Gandhi की सुरक्षा को लेकर जयराम रमेश का बयान, कहा- Congress नहीं करेगी समझौता

अपना हमला जारी रखते हुए भाटिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के मुताबिक आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले देश को क्लीन चिट देना जरूरी था। दिग्विजय सिंह का कहना है कि सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत नहीं दिया है। कांग्रेस हमारे रक्षा बलों के शौर्य पर सवाल उठा रही है, उन्हें हमारी रक्षा करने वाले लोगों पर भरोसा नहीं है। उन्होंने कहा कि जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई तो सेना से प्रमाण मांगा गया। राहुल गांधी की इस यात्रा का असल मकसद है भारत की एकता को खंडित करना। उन्होंने कहा कि जो हमारी संवैधानिक प्रणाली है उस पर कांग्रेस का विश्वास नहीं है, हमारी वीर सेना पर इनका विश्वास नहीं है और बार बार इस तरह के सवाल उठा कर ये सेना और देश के नागरिकों का अपमान करते हैं।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: