Rahul Gandhi नीत ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के पहुंचने से पहले जम्मू में दो विस्फोट, नौ घायल

स्टोरी शेयर करें


जम्मू। कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के जम्मू पहुंचने से दो दिन पहले शहर के बाहरी हिस्से के एक व्यस्त इलाके में शनिवार को दो विस्फोट हुए, जिनमें नौ लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
पुलिस को संदेह है कि नरवाल के ट्रांसपोर्ट नगर इलाके में मरम्मत की एक दुकान में खड़ी एसयूवी और पास के कबाड़खाने में एक वाहन में विस्फोट करने के लिए आईईडी का इस्तेमाल किया गया था।
संदिग्ध आतंकवादियों ने विस्फोट ऐसे समय में किए जब क्षेत्र में सुरक्षा एजेंसियां ​​​​कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ और आगामी गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर अत्यंत सतर्कता बरत रही हैं।
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार रात नरवाल-सिधरा बाईपास पर बजलता में एक डंपर के नीचे हुए विस्फोट में उनका एक कर्मी घायल हो गया।

उन्होंने बताया कि शुक्रवार रात साढ़े ग्यारह बजे के करीब हुए विस्फोट के कारणों की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि डंपर को बजलता में एक पुलिस दल ने जांच के लिए रोका था।
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को इस घटना की कड़ी निंदा की और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा।
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुकेश सिंह ने घटनास्थल के निकट पत्रकारों से कहा, ‘‘घटनास्थल पर खड़ी एक पुरानी बोलेरो (स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल) में पूर्वाह्न लगभग 11 बजे विस्फोट हुआ, जिससे आसपास खड़े पांच लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल ले जाया गया और उनकी हालत स्थिर है।’’
उन्होंने कहा कि इलाके से लोगों को तुरंत निकाला गया, लेकिन इसी बीच 50 मीटर की ही दूरी पर एक और विस्फोट हुआ, जिसमें एक शख्स मामूली रूप से घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अधिकारी ने कहा कि मामले की आगे की जांच जारी है।
हालांकि, विस्फोटों के बाद छर्रे लगने से घायल कुल नौ लोगों को सरकारी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) अस्पताल ले जाया गया।
अस्पताल में एक डॉक्टर ने बताया कि अस्पताल में नौ मरीज लाए गए हैं, जिनमें से एक के पेट में चोट लगी है और दो अन्य के पैर में फ्रैक्चर है तथा इन सभी की हालत स्थिर है।
‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ बृहस्पतिवार शाम पंजाब के रास्ते जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में दाखिल हुई थी और यहां से लगभग 70 किलोमीटर दूर चाडवाल में है। शनिवार को एक दिन के विराम के बाद यात्रा रविवार को हीरानगर से फिर शुरू होकर 23 जनवरी को जम्मू पहुंचेगी।
एक अधिकारी ने घायलों की पहचान जम्मू निवासी सुहैल इकबाल, विश्व प्रताप, विनोद कुमार, अर्जुन कुमार, अमित कुमार, राजेश कुमार और अनीश और डोडा के सुशील कुमार के रूप में की है।
इस महीने के शुरू में राजौरी के डांगरी गांव में आईईडी विस्फोट में चार और 16 साल के दो भाइयों की मौत हो गई थी। यह घटना आतंकवादियों द्वारा चार लोगों की गोली मारकर हत्या करने के 14 घंटे बाद हुई थी।

स्थानीय लोगों ने कहा था कि आतंकवादियों ने उस दिन यह आईईडी लगाया था, जब उन्होंने गोलीबारी की थी और पुलिस की छानबीन में यह पकड़ में नहीं आया था।
अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि पहले विस्फोट के तुरंत बाद पुलिस और सीआरपीएफ के संयुक्त दलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी थी, जिसके 15 मिनट बाद एक और विस्फोट हुआ।
उन्होंने कहा कि सुरागों को तलाशने के लिए फॉरेंसिक विशेषज्ञ, बम निरोधक दस्ते और खोजी कुत्तों को लगाया गया है।
घटना के चश्मदीद जसविंदर सिंह ने बताया कि पहला विस्फोट एक वाहन में हुआ, जिसे मरम्मत के लिए लाया गया था।
मोटर स्पेयर पार्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सिंह के मुताबिक, 15 मिनट बाद पास में एक और विस्फोट हुआ, जिससे क्षेत्र में मोटर वाहन के क्षतिग्रस्त हिस्सों और कचरे का मलबा बिखर गया।

राजकुमार ने कहा कि जब विस्फोट हुआ तो वह दूसरी गाड़ी पर काम कर रहे थे। उन्होंने कहा, “हमें शुरू में लगा कि किसी गाड़ी के पेट्रोल टैंक में विस्फोट हुआ है, लेकिन धमाका इतना जोरदार था कि गाड़ी के परखच्चे उड़ गए।”
एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उपराज्यपाल को इस बारे में जानकारी दी।
उपराज्यपाल ने कहा, ‘‘इस तरह के कायरतापूर्ण कृत्य, हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों की हताशा और कायरता को उजागर करते हैं। तत्काल और कड़ी कार्रवाई करें। विस्फोट के गुनाहगारों को इंसाफ के कठघरे में लाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जानी चाहिए। ’’
उन्होंने घायलों को 50 हजार रुपये की मदद देने की भी घोषणा की।
सिन्हा ने कहा कि प्रशासन यह सुनिश्चित करेगा कि घायलों का बेहतर इलाज हो और उनके परिवारों को हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी।
कांग्रेस सांसद एवं जम्मू कश्मीर मामलों की पार्टी प्रभारी रजनी पाटिल ने दोहरे विस्फोटों की कड़ी निंदा की।
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और आम आदमी पार्टी (आप) ने आरोप लगाया है कि घटना केंद्र शासित प्रदेश में भाजपा की नीति की विफलता को दर्शाती है।

इसे भी पढ़ें: Jammu and Kashmir के कठुआ में कड़ी सुरक्षा के बीच आगे बढ़ी ‘भारत जोड़ो यात्रा’

भाकपा नेता बिनॉय विश्वम ने ट्विटर पर कहा, ‘‘जम्मू विस्फोटों ने एक बार फिर भाजपा की जम्मू-कश्मीर नीति की विफलता को उजागर किया है। अनुच्छेद 370 को निरस्त करना और नोटबंदी असफल रही। आतंकवाद बढ़ रहा है।’’
‘आप’ की जम्मू कश्मीर राज्य समन्वय समिति के अध्यक्ष हर्ष देव सिंह ने आरोप लगाया, ‘‘जिस दिन से भाजपा सरकार सत्ता में आई है, जम्मू-कश्मीर में स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। हर गुजरते दिन के साथ आतंकवाद बढ़ता जा रहा है और 1990 के दशक में लौट रहा है।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: