Air India Urination Case | पेशाब कांड को लेकर पायलट के निलंबन पर कानूनी कदम उठाएगा एयर इंडिया पायलट निकाय

स्टोरी शेयर करें


मुंबई। एयर इंडिया की एक उड़ान में पिछले नवंबर में एक महिला सह-यात्री पर कथित तौर पर एक यात्री के पेशाब करने के मामले में विमान के मुख्य पायलट का लाइसेंस निलंबित करने पर एयर इंडिया पायलट निकाय आईपीजी कानूनी कदम उठाने पर विचार कर रहा है।
इंडियन पायलट गिल्ड (आईपीजी) के एक वरिष्ठ सदस्य ने कहा कि वह संबंधित पायलट के निलंबन के मुद्दे को मजबूती से उठाएंगे। आईपीजी एयरलाइन के उन पायलटों का प्रतिनिधित्व करता है, जो बड़े आकार के विमान उड़ाते हैं।
यह घटना 26 नवंबर 2022 को एयर इंडिया की न्यूयॉर्क-दिल्ली उड़ान के दौरान हुई थी और यह घटना नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के संज्ञान में चार जनवरी को आई थी।

इसे भी पढ़ें: India G20 Presidency | जलवायु परिवर्तन एजेंडे को मुख्यधारा में लाने का मौका है भारत की जी-20 अध्यक्षता

डीजीसीए ने शुक्रवार को विभिन्न उल्लंघनों के लिए एयर इंडिया पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया। इसके अलावा उस विमान के प्रमुख पायलट (पायलट इन कमांड) का लाइसेंस भी तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है और एयर इंडिया की उड़ान सेवा निदेशक पर भी तीन लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

इसे भी पढ़ें: छेडछाड़ के आरोपों की निष्पक्ष जांच के लिए Swati Maliwal को पद से हटाया जाए, दिल्ली भाजपा ने की मांग

पायलट संगठन के एक सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, हम उस पायलट का लाइसेंस निलंबित किए जाने के खिलाफ कानूनी कार्रवाई सहित सभी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। हम इस मुद्दे पर अपने वकीलों से बात कर रहे हैं और जल्द ही फैसला करेंगे।
सदस्य ने दावा किया कि संबंधित पायलट ने उस घटना के समय बहुत ही समझदारी से काम लिया था। सदस्य ने यह भी आरोप लगाया कि पूरे मामले में बलि का बकरा खोजने का काफी दबाव है।
इस संबंध में एयर इंडिया की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई।



स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: