बलात्कार जैसे अपराध क्यों बढ़ रहे हैं? | Why are crimes like rape increasing? | Patrika News

स्टोरी शेयर करें

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: January 14, 2022 05:22:11 pm

अश्लील सामग्री का असर
लिखित सामग्री से ऑडियो और वीडियो का प्रभाव ज्यादा होता है। पहले अश्लील सामग्री की पहुंच कुछ लोगों तक होती थी, किंतु डिजिटल क्रांति ने हर हाथ में अश्लील वीडियो दे दिए हैं। इससे लोगों की मानसिकता बिगड़ रही है। पाप पहले मानस में पैदा होता है और फिर उसे अंजाम दिया जाता है। लोगों की मानसिकता ठीक करने के लिए पोर्न सामग्री को डिजिटल प्लेटफॉर्म/ ओटीटी से हटाना जरूरी है ।
-सुनील खासगीवाला, सूरत
…………………………….

बलात्कार जैसे अपराध क्यों बढ़ रहे हैं?

सख्ती की जरूरत
बलात्कार जैसे घिनौने अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं। इससे मानवता भी शर्मसार हो चुकी है। इन अपराधियों को न तो समाज की परवाह है और न ही पुलिस का डर। यदि पुलिस सख्ती करे और समाज भी चौकस रहे, तो ऐसे अपराध कम हो सकते हैं।
– गौरव अग्रवाल, अलवर
…………………………..

बेखौफ हैं अपराधी
देश में बलात्कार की घटनाएं निरन्तर बढ़ रही हैं। अबोध बालिका से लेकर वृद्ध महिलाएं तक वहशीपन का शिकार हो रही हैं। कड़े कानून के बावजूद बलात्कार की घटनाओं का बढ़ना सरकारी तंत्र की कमजोरी को उजागर करता है।
– राधे सुथार भादसोड़ा, चित्तौडग़ढ़
……………..

डरी हुई हैं महिलाएं
महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं। बलात्कार जैसे अपराधों में पीड़ित महिलाओं को ही बदनाम होने का डर रहता है। उन्हें लगता है कि अगर वे शिकायत करेंगी, तो समाज उन्हें ही कलंकित करेगा। दरअसल, हमारे कुछ नेताओं ने विवादास्पद बयानों को लेकर इस डर को बढ़ा भी दिया है। ऐसे में ज्यादातर महिलाएं अपने साथ हुए यौन दुर्व्यवहार के बारे में किसी को नहीं बताती।
-दिव्या खोबरे, इंदौर, मध्यप्रदेश
………………….

शीघ्र मिले सजा
देश मे बलात्कार जैसे अपराधों के मामले में दोषी को सजा के लिए कानून तो बहुत बने हुए हैं, पर सजा की प्रक्रिया बहुत जटिल है। इसलिए अपराधी बच जाता है। ऐसे मामलों में अपराधी को सजा जल्दी मिलनी चाहिए।
-गोपाल अरोड़ा, जोधपुर
…………………..

नशा है प्रमुख कारण
बलात्कार ने देश में एक महामारी का रूप ले लिया है। ज्यादातर मामलों में नशा ही प्रमुख कारण नजर आ रहा है। नशा करने के कारण आदमी का खुद पर नियंत्रण नहीं रहता। ऐसे में कोई भी स्त्री उसे मात्र शिकार ही नजर आती है ।
-प्रियंका गोहिल, रायपुर, छत्तीसगढ़
……………..

अपराधियों के बुलंद हौसले
वर्तमान दौर मे यौन हिंसा और बलात्कार जैसी घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हंै। इसका कारण कानून-व्यवस्था की खराब स्थिति है। इससे अपराधियों के हौसले बुलंद हैं।
-टीलाराम मेघवाल, बूटडी, सिरोही
……………

विकृत मानसिकता जिम्मेदार
लगातार बढ़ रहे बलात्कार जैसे अपराधों की वजह इंटरनेट के जरिए अश्लील सामग्री तक आसान पहुंच है। इससे युवाओं की मनोवृत्ति बिगड़ती है। साथ ही साथ प्रशासन की सुस्ती से अपराधियों में खौफ नहीं है।
-वेलाराम देवासी लुन्दाडा,पाली
…………………

अश्लील सामग्री का असर
इंटरनेट पर अश्लील सामग्रियों की भरमार है। यह अश्लीलता मानसिक विकृति पैदा करती है। अपनी काम वासना के लिए व्यक्ति बलात्कार जैसे अपराधों को अंजाम दे देता है। अश्लील सामग्री देखने और पढऩे से व्यक्ति विवेक शून्य हो जाता है। यही कारण है कि बलात्कार जैसे अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं।
-सतीश उपाध्याय, मनेंद्रगढ़ कोरिया, छत्तीसगढ़
…………………

नैतिक शिक्षा की कमी
देश में बलात्कार जैसे गंभीर अपराध बढ़ते जा रहे हैं। इसका प्रमुख कारण है कठोर कानून न होना और देश में पाठ्यक्रमों में नैतिक शिक्षा की कमी होना। इसके साथ ही सोशल मीडिया का प्रयोग बढऩे से अश्लील सामग्री आसानी से उपलब्ध होना भी युवा पीढ़ी को पथ भ्रमित करता है। इस कारण ऐसे अपराध बढ़ते हैं।
-कमल किशोर, बरसनी
……………….

सजा में विलंब
नैतिक शिक्षा का अभाव, बलात्कार जैसे जघन्य अपराध बढऩे का प्रमुख कारण है। साथ ही ऐसे मामलों में दोषी को सजा मिलने में भी काफी विलंब होता है। इससे अपराधियों के हौसले बुलंद होते हैं। कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करने से ही अपराध रुक सकते हैं।
तरुण सुवालका, कोटा
……………….

विदेशी संस्कृति का असर
बलात्कार का सबसे बड़ा कारण विदेशी संस्कृति का बढ़ता प्रभाव है। टीवी और मोबाइल ने भी आग में घी का काम किया है। अपराधियों को समय पर सरेआम सजा मिलनी चाहिए, ताकि उसके डर से दूसरा व्यक्ति ऐसा अपराध करने से बचे।
-रमेश चंद खंडेलवाल, कोटा
…………

अपराधियों में डर नहीं
बलात्कार जैसे अपराधों का बढ़ना चिंता का विषय है। इसका मुख्य कारण अपराधियों के मन में कोई डर न होना है। समाज का महिलाओं को बलात्कार के लिए जिम्मेदार मानना इसका दूसरा मुख्य कारण है।
-रुचिका अरोड़ा, जयपुर

newsletter

अगली खबर

right-arrow

!function(f,b,e,v,n,t,s)
{if(f.fbq)return;n=f.fbq=function(){n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)};
if(!f._fbq)f._fbq=n;n.push=n;n.loaded=!0;n.version=’2.0′;
n.queue=[];t=b.createElement(e);t.async=!0;
t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window, document,’script’,
‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘169829146980970’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);


स्टोरी शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest

Advertisements
%d bloggers like this: